35.2 C
Madhya Pradesh
June 19, 2024
Pradesh Samwad
प्रदेशमहाराष्ट्रराजनीति

समीर वानखेड़े के डाक्‍यूमेंट देखने आए अरुण हलदर, पत्‍नी बोली- अब आरोप लगाने वालों की होगी जांच


राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष और ड्रग्स-ऑन-क्रूज़-मामले में जांच के प्रभारी अरुण हलदर रव‍िवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) अधिकारी समीर वानखेड़े के घर पहुंचे। इस पर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर वानखेड़े ने बताया क‍ि वह (राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष अरुण हलदर) यहां कुछ मूल दस्तावेज देखने आए थे। अब हमारे खिलाफ आरोप लगाने वालों के खिलाफ होगी जांच।
एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर वानखेड़े ने आगे कहा क‍ि समीर वानखेड़े और परिवार के सदस्यों की सुरक्षा खतरे में है। कुछ दिन पहले तीन लोगों ने घर की रेकी की थी। हम पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मुहैया कराएंगे। परिवार को सुरक्षा दी जाए। दरअसल हाई-प्रोफाइल क्रूज ड्रग्स मामले में एक गवाह के आरोप के बाद समीर वानखेड़े एनसीबी की ओर से सतर्कता जांच का सामना कर रहे हैं। गवाह के मुताबिक, इस मामले में कुल 25 करोड़ रुपये की मांग की गई थी, जिसमें से आठ करोड़ रुपये समीर वानखेड़े को दिए जाने थे। इस मामले में अभिनेता शाहरुख खान का बेटा आर्यन खान भी आरोपी है।
नवाब मल‍िक ने लगाया आरोप : उधर, एनसीपी नेता और महाराष्‍ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने आरोप लगाया था कि वानखेड़े का जन्म एक मुस्लिम के रूप में हुआ था, लेकिन फर्जी जाति प्रमाण पत्र सहित अन्य जाली दस्तावेजों की मदद से आरक्षण के तहत नौकरी पाने के लिए समीर ने खुद को हिंदू दलित बताया और संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की।
समीर वानखेड़े एक हिंदू दलित, उन्हें बदनाम करना बंद करें मलिक: आठवले : उधर, समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर और उनके पिता ज्ञानदेव वानखेड़े ने रविवार को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के अध्यक्ष से मुलाकात की। रामदास आठवले ने कहा कि वानखेड़े एक हिंदू दलित और संविधान निर्माता बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर के अनुयायी हैं। आठवले ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक से एनसीबी अधिकारी और उनके परिवार के सदस्यों को बदनाम करने की ‘साजिश’ करने से परहेज करने को भी कहा।

Related posts

‘यूपी में अपने दम पर लडे़ेगी कांग्रेस…’ पिछले गठबंधनों की टीस अभी भी बाकी या फिर दूसरे दलों से नहीं बात?

Pradesh Samwad Team

पटना हाईकोर्ट ने निरस्‍त किया BPSC का फैसला, कहा- इस वजह से नौकरी के लिए उम्मीदवारी रद्द करने का कोई आधार नहीं

Pradesh Samwad Team

मौलाना कलीम के तीनों साथी 7 दिन की ATS की रिमांड पर, धर्मांतरण मामले में रविवार को किया गया था गिरफ्तार

Pradesh Samwad Team